Wednesday, July 11, 2007

प्यार मुझसे जो किया तुमने

प्यार मुझसे जो किया तुमने

प्यार मुझसे जो किया तुमने तो क्या पाओगी
मेरे हालात कि आंधी में बिखर जाओगी
प्यार मुझसे जो किया तुमने
तो क्या पाओगी

रंज और दर्द कि बस्ती का मैं बाशिंदा हूँ
यह तो बस मैं हूँ के इस हाल में भी जिंदा हूँ
ख्वाब क्यों देखूं वोह कल जिसपे मैं शर्मिंदा हूँ
मैं जो शर्मिंदा हुआ तुम भी तो शर्माओगी

क्यों मेरे साथ कोई और परेशां रहे
मेरी दुनिया है जो वीरान तो वीरान रहे
जिन्दगी का यह सफ़र तुम पे तो आसान रहे
हम सफ़र मुझको बनोगी तो पछ्तोगी
प्यार मुझसे जो किया तुमने तो क्या पाओगी

एक मैं क्या अभी आएंगे दीवाने कितने
अभी गूंजेंगे मोहब्बत के तराने कितने
जिन्दगी तुमको सुनेगी फ़साने कितने
क्यों समझती हो मुझे भूल नहीं पाओगी
प्यार मुझसे जो किया तुमने तो क्या पाओगी
मेरे हालात कि आंधी में बिखर जाओगी
प्यार मुझसे जो किया तुमने तो क्या पाओगी

PYAR MUJHSE JO KIYA TUMNE

pyar mujhse jo kiya tumne to kya paogi
mere haalaat ki aandhi mein bikhar jaogi
pyar mujhse jo kiya tumne
to kya paogi

ranj aur dard ki basti ka main bashinda hoon
yeh to bas main hoon ke is haal mein bhi zinda hoon
khwab kyun dekhun woh kal jispe main sharminda hoon
main jo sharminda hua tum bhi to sharmaogi

kyun mere saath koi aur pareshan rahe
meri duniya hai jo veeran to veeran rahe
zindagi ka yeh safar tum pe to asaan rahe
hum safar mujhko banaogi to pachhtaogi
pyar mujhse jo kiya tumne to kya paogi

ek main kyaa abhi aayenge deewane kitne
abhi goonjenge mohabbat ke tarane kitne
zindagi tumko sunaegi fasane kitne
kyun samajhti ho mujhe bhool nahin paogi
pyar mujhse jo kiya tumne to kya paogi
mere halaat ki aandhi mein bikhar jaaogi
pyar mujhse jo kiya tumne to kya paogi

No comments: