Monday, May 27, 2013

संवार लूं Sanwaar loon- Lootera


हवा के झोंके आज मौसमों से रूठ गये।
गुलों की शोखियाँ जो भंवरे आ के लूट गये। 
बदल रही है आज ज़िन्दगी की चाल ज़रा। 
इसी बहाने क्यूँ न मैं भी दिल का हाल ज़रा 
संवार लूं ह़ाए संवार लूं 
संवार लूं ह़ाए संवार लूं 

बरामदे पुराने हैं नयी सी धूप है। 
जो पलकें खटखटा रहा है किसका रूप है। 
शरारतें करे जो ऐसे भूल के हिजाब कैसे 
उसको नाम से मैं पुकार लूं .. 
संवार लूं ह़ाए संवार लूं 
संवार लूं ह़ाए संवार लूं 

hawa ke jhonke aaj mausamon se rooth gaye
gulon ki shokhiyaan jo bhanvare aa ke loot gaye
badal rahi aaj zindagi ki chaal zara
isi bahane kyun na main bhi dil ka haal zara
sanwaar loon.. sanwaar loon.. 

baramde purane hain nayi si dhoop hai
jo ban ke khatkhata raha hai kiska roop hai.. 
sharaaratein  kare jo aise bhool ke hijaab 
kaise usko naam se main pukaar loon.. 
sanwaar loon... sanwaar loon.. 



Song: Sawaar Loon
Singer: Monali Thakur
Music: Amit Trivedi
Lyrics: Amitabh Bhattacharya
Music On: T-Series

Thursday, May 23, 2013

Sun raha hai na tu.. Aashiqui 2


apne karam ki kar ataaein..

yaaraa..
yaraa..
yaraa..

mujhko irade de
kasmein de vaade de
meri duaon ke isharon ko sahare de

dil ko thikane de
naye bahane de
khabon ki barishon ko mausam ke paimane de

apne karam ki kar ataein.
kar idhar bhi tu nigaahein

sun raha hai na tu..
ro raha hoon main..
sun raha hai na tu..
kyun ro raha hoon main..

sun raha hai na tu..
ro raha hoon main..
sun raha hai na tu..
kyun ro raha hoon main..


manzilein ruswa hain..
khoya hai raasta..
aaye le jaaye..
itni se ilteja

ye meri zamanat hai
tu meri amanat hai..

apne karam ki kar ataaein..
kar de idhar bhi tu nigaahein
sun raha hai na tu..
ro raha hoon main..
sun raha hai na tu..
kyun ro raha hoon main..


waqt bhi thehra hai..
kaise kyun ye hua..
kash tu aise aaye..
jaise koi dua..
tu rooh ki raahat hai..
tu meri ibaadat hai..

apne karam ki kar ataaein
kar de idhar bhi tu nigahein..

sun raha hai na tu..
ro raha hoon main
sun raha hai na tu..
kyun ro raha hoon main..

sun raha hai na tu..
ro raha hoon main..
sun raha hai na tu..
kyun ro raha hoon main..

yaraa....



Song: SUNN RAHA HAI
Singer: ANKIT TIWARI
Music Director: ANKIT TIWARI
Assistant Mix Engineer - MICHAEL EDWIN PILLAI
Mixed and Mastered by ERIC PILLAI (FUTURE SOUND OF BOMBAY)
Lyrics:SANDEEP NATH
Movie: AASHIQUI 2
Producer: BHUSHAN KUMAR KRISHAN KUAMR Producer: MUKESH BHATT 
Director: MOHIT SURI
Music Label: T-SERIES

Friday, March 20, 2009

सज़ा

ऐसी सज़ा देती हवा,
तन्हाई भी तन्हा नहीं

ऐसी सज़ा देती हवा
तन्हाई भी तन्हा नहीं
film : Gulal

नींदें भी अब
सोने गयीं
रातों को भी परवाह नहीं

ऐसे में बारिश की बूंदों से अपनी साँसों को सहला भी दो
बढ़ते हवाओं के झोंकों से दिल को नगमा कोई ला भी दो..
पलकों की कोरों पे बैठी नमी को धीमे से पिघला भी दो

ये ज़िन्दगी, ऐसी ही थी,
तुमने कभी जाना नहीं

जीवन की राहों में आना या जाना बता के नहीं होता है
जाते कहीं है मगर जानते न कि आना वहीँ होता है
खोने की जिद में ये क्यूँ भूलते हो कि पाना भी होता है

वो पल अभी वैसा ही है
छोड़ा था जो जैसा वहीँ

ऐसी सज़ा देती हवा
तन्हाई भी तन्हा नहीं
नींदें भी अब
सोने गयीं
रातों को भी परवाह नहीं

Friday, February 27, 2009

तू इस तरह से मेरी ज़िन्दगी में शामिल है

तू इस तरह से मेरी ज़िन्दगी में शामिल है॥
जहाँ भी जाऊँ ये लगता है तेरी महफिल है

ये आसमान ये बादल ये रास्ते ये हवा
हर एक चीज़ है अपनी जगह ठिकाने से
कई दिनों से शिकायत नहीं ज़माने से
ये ज़िन्दगी है सफर तू सफर की मंजिल है


हर एक शै है मुहब्बत के नूर से रौशन
हर एक शै है मुहब्ब्बत के नूर से रौशन
ये रौशनी जो न हो ज़िन्दगी अधूरी है
रहेवाफा में कोई हमसफ़र ज़रूरी है
ये रास्ता कहीं तनहा कटे तो मुश्किल है
जहाँ भी जाऊं ये लगता है तेरी महफिल है॥

हर एक फूल किसी याद सा महकता है
तेरे ख़याल से जागी हुई फिजाएं हैं
ये सब्ज़ पेड़ हैं या प्यार की दुआएं हैं
तू पास हो की न हो फ़िर भी तू मुकाबिल है
जहाँ भी जाऊँ ये लगता है तेरी महफिल है
तू इस तरह से मेरी ज़िन्दगी में शामिल है

Saturday, December 22, 2007

ओ रे पिया..

ओ रे पिया.. हाय ओ रे पिया..
ओ रे पिया.. आहाए.. ओ रे पिया..

ओ रे पिया.. हाय.. ओ रे पिया..
उड़ने लगा क्यों..
मन बावला रे..
आया कहाँ से..
ये हौसला रे..

ओ रे पिया.. आ.. ओ रे पिया .. हाय..

ताना बाना ताना बाना
बुनती हवा हाय
बुनती हवा..
बोले भी तो आये नहीं
बाज़ यहाँ..
साजिश में सामिल सारा जहाँ है
हर ज़र्रे ज़र्रे कि ये इल्तिजा है..
ओ रे पिया.. ओ रे पीया आ हाय
ओ रे पिया...

नज़रें बोले दुनिया बोले दिल की ज़बान
इश्क मांगे इश्क चाहे कोई तूफ़ान..
हाय
चल आहिस्ते इश्क नया है..
पहला ये वादा हमने किया है..
ओ रे पिया.. ओ रे पिया हाय..
ओ रे पिया..

नंगे पैरों पे अंगारों चलती रही
लगता है की गैरों में मैं पलती रही
हाय
ले चल वहाँ जो मुल्क तेरा है
जाहिल ज़माना दुश्मन मेरा है..
ओ रे पिया.. हाय ओ रे पिया आ हाय
ओ रे पिया। ॥

o re piya.. haaye o re piya..
o re piya.. aahaaye.. o re piya..

o re piya.. haaye.. o re piya..
udne laga kyun..
man baawla re..
aaya kahaan se..
ye hausla re..

o re piya.. aa.. o re piya .. haaye..

tana bana tana bana
bunti hawa haaye
bunti hawa..
bole bhi to aaye nahin
baaz yahaan..
saazish mein saamil sara jahaan hai
har zarre zarre ki ye iltija hai..
o re piya.. o re piyaa aa haaye
o re piya...

nazrein bole duniya bole dil ki zabaan
ishq maange ishq chahe koi tufaan..
haaye
chal aahiste ishq naya hai..
pehla ye waada humne kiya hai..
o re piya.. o re piya haaye..
o re piya..

nange pairon pe angaron chalti rahi
lagta hai ki gairon mein main palti rahi
haaye
le chal wahaan jo mulq tera hai
jaahil zamaana dushman mera hai..
o re piya.. haaye o re piya aa haaye
o re piya. ..

Friday, December 14, 2007

कसक उठी मेरे मन में पिया मुझे गले लगा ले

पिया पिया ओ रे पिया
पिया ओ रे पिया

पिया पिया ओ रे पिया
पिया ओ रे पिया


कसक उठी मेरे मन में पिया मुझे गले लगा ले
कसक उठी मेरे मन में पिया मुझे गले लगा ले..
गले लगा ले
जिया धड़का ले
सपनों को अपने सजा ले सजा ले
कसक उठी मेरे मन में पिया मुझे गले लगा ले..

पिया पिया ओ रे पिया..


तू मेरी ज़िंदगी.. जहाँ तू मेरा मन वहाँ
दुनिया से क्या वास्ता तू ही मेरा सारा जहाँ
आंखों में छुपा ले
दिल में बसा ले
सीने से अपने लगा ले
कसक उठी मेरे मन में पिया मुझे गले लगा ले..

पिया पिया ओ रे पिया

बे बसी का गुमान तेरे संग मंज़ूर है
अपना तुझे मान कर दिल मेरा मगरूर है
अरमान सरे तुझपे हैं वारे
अरमान सारे तुझपे हैं वारे
खुद को किया तेरे हवाले
कसक उठी मेरे मन में पिया मुझे गले लगा ले॥

piya piya o re piya
piya o re piya

piya piya o re piya
piya o re piya


kasak uthi mere man mein piya mujhe gale laga le
kasak uthi mere man mein piya mujhe gale laga le..
gale laga le
jiya dhadka le
sapno ko apne saja le saja le
kasak uthi mere man mein piya mujhe gale laga le..

piya piya o re piya..


tu meri zindagi.. jahaan tu mera man wahaan
duniya se kya vaasta tu hi mera sara jahaan
aankhon mein chhupa le
dil mein basa le
seene se apne laga le
kasak uthi mere man mein piya mujhe gale laga le..

piya piya o re piya

be basi ka gumaan tere sang manzoor hai
apna tujhe maan kar dil mera magroor hai
arman sare tujhpe hain waare
arman saare tujhpe hain waare
khud ko kiya tere hawaale
kasak uthi mere man mein piya mujhe gale laga le..

जोगी जब से तू आया मेरे द्वारे

जोगी जब से तू आया मेरे द्वारे
ओ मेरे रंग गए सांझ सकारे
तू तो अंखियों से जाने जी कि बतियाँ
तोसे मिलना है जुल्म भया रे..

देखी सांवली सूरत ये नैना जुडाये
तेरी छब देखी जब से रे नैना जुदाए
भये बिन कजरा ये करारे
जोगी जब से तू आया मेरे द्वारे
ओ मेरे रंग गए सांझ सकारे..

जाके पनघट पे बैठूं मैं
राधा दीवानी
बिन जल लिए चली आऊं राधा दीवानी
मोहे अजब ये रोग लगा रे
जोगी जब से तू आया मेरे द्वारे
ओ मेरे रंग गए सांझ सकारे..


मीठी मीठी अगन ये सह न सकूंगी
मैं तो छुई मुई अबला रे सह न सकूंगी
मेरे और निकट मत आ रे
ओ जोगी जब से तू आया मेरे द्वारे
ओ मेरे रंग गए सांझ सकारे॥

jogi jab se tu aaya mere dware
o mere rang gaye saanjh sakaare
tu to ankhiyon se jaane ji ki batiyaan
tose milna hai julm bhaya re..

dekhi saanwali surat yeh naina judaye
teri chhab dekhi jab se re naina judaye
bhaye bin kajra yeh karare
jogi jab se tu aaya mere dware
o mere rang gaye saanjh sakaare..

jaake panghar pe baithun main
raadha deewani
bin jal liye chali aaun raadha deewani
mohe ajab ye rog laga re
jogi jab se tu aaya mere dware
o mere rang gaye saanjh sakaare..


meethi meethi agan ye seh na sakungi
main to chhui mui abla re seh na sakungi
mere aur nikat mat aa reh
o jogi jab se tu aaya mere dware
o mere rang gaye saanjh sakaare..